शुक्रवार, 26 फ़रवरी 2010

होली रे होली !

होली वही जो दिलों में नए रंग भर दे,
 
होली वही जो मायूसों को खुश कर दे,

 
भरो कुछ ऐसे रंग सबके दिलोदिमाग में ,

 
जीवन जो सभी का पल में रंगा-रंग कर दे.



सतरंगी होली के रंगों से सजे थाल में   समस्त  ब्लॉग  संसार के  सदस्यों  को  अपनी   ओर से हार्दिक शुभकामनाएं आपके नजर  करती हूँ. 


 हमेशा आपके सहयोग , आलोचना और मार्गदर्शन के हम आकांक्षी और आभारी हैं.

4 टिप्‍पणियां:

शहरोज़ ने कहा…

आप सभी को ईद-मिलादुन-नबी और होली की ढेरों शुभ-कामनाएं!!
इस मौके पर होरी खेलूं कहकर बिस्मिल्लाह ज़रूर पढ़ें.

MUFLIS ने कहा…

होली वही जो दिलों में नए रंग भर दे,

होली वही जो मायूसों को खुश कर दे,

ab is se badee aur nek duaa
ya khwaahish kayaa ho sakti hai bhalaa.....
aapke paakeeza jazbe ko salaam

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

वाह सुन्दर. बह्त सुन्दर रंग सजाये है आपने.

Udan Tashtari ने कहा…

चलिये, आज दिखी पोस्ट तो आज मुबारक!!